Dhenu Manas Granth

विश्व की सबसे ऊँचाई में स्तिथ गौशाला दिव्यधाम चोपड़धार, उत्तरकाशी में पूज्य गुरुदेव द्वारा 6 माह तक 108 ब्राह्मण याज्ञिकों द्वारा ‘गोवेर्धन लक्ष चंडी महायज्ञ’ का आयोजन हुवा। यहीं पर आपका माँ भगवती भुवनेश्वरी गौ माता से साक्षात्कार हुवा, जिनके कृपा प्रसाद से ही आप द्वारा दिव्य ‘धेनु मानस’ सदग्रंथ की रचना की गयी। विश्व में प्रथम बार गुरुदेव की अमृतमयी ओजस्वयी वाणी से गोवंश के संवर्धन एवं जनमानस के कल्याण हेतु देहरादून से वर्ष 2007 के श्राद्ध-पक्ष में गौकथा प्रारंभ हुई, जिसके फलस्वरूप जन-जन तक गौसेवा, गौरक्षा गौमहात्मय और गौमाता राष्ट्रमाता के सम्मान की क्रांति आरम्भ हुई।

गौ माहात्म्य को यथार्थ एवं सप्रमाण प्रस्तुत करने के उद्देश्य से ही इस पवित्र ‘धेनु मानस’ ग्रन्थ की रचना का बीड़ा आपने उठाया है ताकि इससे प्रेरित होकर विश्व के और विशेष रूप से भारत के लोग गौरक्षा, संवर्धन एवं गौमाता को राष्ट्रमाता का सम्मान दिलाने में अपना जीवन समर्पित कर धन्यता प्राप्त कर सके।

Cost Cost of the granth is 350/- if receive from Dehradun office or from katha pandal. Cost is 452(including postal charges) if you receive it through V.P.P.
Mode of receiving We send it through V.P.P. Please send us your complete address by dropping us a mail at gopalgolokdham_2005@yahoo.co.in
or call us on any of the below numbers 0135 - 3192183, 09412968738, 97609198965

Subscribe to Our Newsletter to get Important News updates in your Inbox

Subscribe